Sunday, 8 November 2020

दिवाली 2020 : दिवाली के पहले दिन नरक चतुर्दशी को करे यमराज की पूजा,जानिये विशेष महत्व

SHARE
नरक चतुर्दशी लोगो के लिए विशेष महत्वपूर्ण दिन रहता हैं कहा जाता हैं की इस दिन यम की अच्छे से पूजा की जाए तो कभी भी नरक का दरवाजा देखना नहीं पड़ेगा और हमारे सभी पापो का नाश हो जायेगा, जानिए खबर आप भी ?


दिवाली के एक दिन पहले चतुर्दशी का विशेष महत्त्व माना जाता हैं इस दिन यमराज की पूजा की जाती हैं जिसके कारण नरक के भय का नाश होता हैं और सारे पाप कट जाते हैं और आपको सुख समृद्धि की प्राप्ति होती हैं। 


चतुर्दशी के दिन जल्दी उठकर सूर्योदय से पहले नहाते समय अपामार्ग, लौकी और जायफल इनको अपने मस्तक पर घुमाये और प्राथना करे की हे अपामार्ग में कांटे,पत्तियों आदि के साथ तुमको बार बार अपने मस्तक पर घुमा रहा हूँ। मेरे द्वारा अनजाने में हुई गलतियों के पाप का आप नाश करे। इसके बाद यमराज के नामो को चार-पांच बार मनन करे। 



यमराज के नाम - यमाय नमः।।  धर्मराजाय नमः।।  मृत्यवे नमः।।  अन्तकाय नमः।।  वैवस्वताय नमः।। कालाय नमःं।।  सर्वभूतक्षाय नमः।।  औदुम्बराय नमः।।  दध्नाय नमः।।  नीलाय नमः।।  परमेष्ठिने नमः।।  वृकोदराय नमः।।  चित्राय नमः।।  चित्रगुप्ताय नमः।।


त्रयोदशी से ही दीप जलाकर देवताओ की पूजा करे , इन दीपको को ब्रहमा, विष्णु और महेश आदि के मन्दिरों में गुप्त गृहों, रसोईघर, स्नानघर, देववृक्षों के नीचे, सभा भवन में, नदियों केे किनारे, चहारदीवारी पर, बगीचे में, गली-कूची में एंव गौशाला में जलाने से शुभ लाभ प्राप्त होता हैं। 


Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. News Remind इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें. इस खबर से सबंधित सवालों के लिए कमेंट करके बताये और ऐसी खबरे पढ़ने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें - धन्यवाद
SHARE

Author: verified_user

0 comments: